कौन है विवादित बयान देने वाली भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा | Nupur Sharma Biography in Hindi

Share:

Nupur Sharma Biography in Hindi : नमस्कार दोस्तों, भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma Wikipedia in Hindi) सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई हैं। हर कोई जानना चाहता है कि नूपुर शर्मा कौन है? (Nupur Sharma Kaun Hai) उसके साथ जुड़ा विवाद क्या है (Nupur Sharma controversy) इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम नूपुर शर्मा का जीवन परिचय (Nupur Sharma Biography in Hindi) के बारे में बताने वाले हैं।


आप जानते ही होंगें कि हाल ही में देश की सत्तारूढ़ पॉलिटिकल पार्टी बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता Nupur Sharma द्वारा एक टीवी डिबेट शो में मुस्लिमों के पैगंबर मोहम्मद के बारे में कुछ अपमान जनक टिप्पणी की थी, जिसके बाद से उत्तर प्रदेश के कानपुर में हिंसा भड़की और कई लोगों के घायल एवं मारे जाने की खबरें भी आई। दूसरी तरफ नूपुर शर्मा अपने दिए गए बयान के कारण देश के मुस्लिम संगठनों और मुस्लिम कट्टर पंथियों के निशाने पर आ गई हैं। बार-बार नूपुर शर्मा को मुस्लिम संगठनों के द्वारा मारे जाने / सिर कलम किये जाने की धमकी दी जा रही है। 


क्या आप जानते हैं कि Nupur Sharma Kaun Hai, वह देश की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी से कैसे जुड़ी। अपने द्वारा दिए गए बयान की वजह से उन्हें भाजपा ने पार्टी से बाहर निकाल दिया और उन्हें पुलिस सुरक्षा दी गई है, क्योंकि कई इस्लामिक ग्रुप इन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। वहीं कतर, ओमान, अफगानिस्तान, इराक, ईरान और सऊदी अरब जैसे देशों के द्वारा भी नूपुर शर्मा के बयान पर विरोध दर्ज करवा गया है।


Nupur Sharma Biography in Hindi

नुपुर शर्मा का जीवन परिचय [जीवनी, जन्म तारीख, जन्म स्थान, आयु, पिता, माता, पद, धर्म, हाइट, जाति, पति, बॉयफ्रेंड, राष्ट्रियता, करियर, राजनीतिक करियर, शिक्षा, पॉलिटिक्स पार्टी, विधानसभा चुनाव, पसंद, अवार्ड्स, फेक्ट, अभियान, विवाद ] Nupur Sharma Biography [ date of birth, birth place, age, cast, family, boyfriend, husband, politics position, height, religion, profession, career, politics career, education, politician party, elections, awards, controversy ]


नुपुर शर्मा का जीवन परिचय | Nupur Sharma Biography in Hindi


नाम: नूपुर शर्मा  

जन्म: 23 अप्रैल 1985  

जन्म स्थान: नई दिल्ली  

आयु: 36  

पिता: विनय शर्मा  

व्यवसाय: राजनेता, वकील  

पद: भाजपा पूर्व प्रवक्ता  

राजनीतिक पार्टी: भारतीय जनता पार्टी  

लंबाई: 5 फुट 3 इंच  

वजन: 50 किलो  

धर्म: हिंदू

जाति: ब्राह्मण

राष्ट्रीयता: भारतीय

वैवाहिक स्थिति: अविवाहित

शिक्षा: एलएलएम (पोस्ट ग्रेजुएशन)  

पता: 5-B, गिरधर अपार्टमेंट, फिरोजेशाह रोड, नई दिल्ली-110001  


बता दें की अपने दिए गए बयान के कारण Nupur Sharma को अपने प्रवक्ता पद (National Spokesperson of The Bharatiya Janata Party) से इस्तीफा देना पड़ा। इस्तीफा देने के साथ ही पार्टी ने उन्हें 6 साल के लिए निलंबित भी कर दिया है। इस आर्टिकल में आप जानेंगे Nupur Sharma के बारे में सब कुछ, इसलिए आपसे अनुरोध है की आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें। तो आइये जानते हैं कौन हैं बीजेपी पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharam Wikipedia in Hindi)


नूपुर शर्मा का प्रारंभिक जीवन


एक टीवी डिबेट में मोहम्मद साहब के ऊपर दिए गए विवादित बयान से सुर्खियों में आई ब्राह्मण परिवार की बेटी नूपुर शर्मा का जन्म 1985 में 23 अप्रैल के दिन भारत देश की राजधानी दिल्ली में हुआ था। यह जिस घराने में पैदा हुई थी, वह काफी लंबे समय से बिजनेस से जुड़ा हुआ है। इनके पिताजी का नाम विनय शर्मा है।


नूपुर शर्मा की शिक्षा


नूपुर शर्मा ने अपनी प्रारंभिक एजुकेशन दिल्ली पब्लिक स्कूल से हासिल की और उसके पश्चात उन्होंने अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन प्राप्त किया और यहां से डिग्री हासिल करने के पश्चात अपनी आगे की पढ़ाई करने के लिए यह ब्रिटेन चली गई।


ब्रिटेन में नूपुर शर्मा एलएलएम का कोर्स करने के लिए लंदन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में एडमिशन प्राप्त किया और यहां से इन्होंने सफलतापूर्वक एलएलएम की डिग्री हासिल की।


नूपुर शर्मा की राजनीति में रुचि


नूपुर शर्मा बचपन से ही काफी तेजतर्रार थी, क्योंकि यह बचपन से ही पढ़ाई करने में काफी आगे थी और पढ़ाई करने के दरमियान ही यह राजनीति में भी इंटरेस्ट लेने लग गई थी, जिसके फलस्वरूप यह कॉलेज के टाइम से ही राजनीतिक बातें करने लगी थी। जब नूपुर शर्मा दिल्ली यूनिवर्सिटी में अपनी पढ़ाई कर रही थी, तब यह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मे एक एक्टिव मेंबर के तौर भी शामिल हुई थी।


विद्यार्थी परिषद की मेंबर होने के साथ ही साथ इन्हें एबीपी के द्वारा दिल्ली यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष का टिकट भी दिया गया था और आपको आश्चर्य होगा कि इन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष पद को भी प्राप्त करने में सफलता हासिल की थी।


नूपुर शर्मा बीजेपी से कैसे जुड़ी


ABPV भाजपा पार्टी को ही सपोर्ट करने वाला एक छात्र संगठन है। इस प्रकार नूपुर शर्मा भी कॉलेज के दरमियान हीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ जुड़ गई थी। जिस प्रकार से स्वाभाविक तौर पर इनका रुझान शुरुआत में ही भारतीय जनता पार्टी की तरफ हो गया था और इस प्रकार से नूपुर शर्मा ने भारतीय जनता पार्टी को ज्वाइन कर लिया, जिसके पश्चात इन्हें भारतीय जनता पार्टी में कई महत्वपूर्ण पद प्राप्त हुए थे।


राजनीति में अपने कैरियर की स्टार्टिंग करने वाली नूपुर शर्मा टीच फॉर इंडिया की यूथ एंबेसडर भी रह चुकी हैं। इसके अलावा नूपुर शर्मा भारतीय जनता युवा मोर्चा की यूथ विंग की राष्ट्रीय कार्यकारी कमेटी की मेंबर भी रह चुकी हैं। नूपुर शर्मा को भारतीय जनता पार्टी के द्वारा वर्किंग कमेटी में मीडिया इंचार्ज का युवा मेंबर भी बनाया गया था। इसके अलावा भाजपा की तरफ से उन्हें राज्य कार्यकारी कमेटी भाजपा का मेंबर भी बनाया गया था।


नुपुर शर्मा ने दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 में केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ा


राजनीति में लंबे समय से एक्टिव नूपुर शर्मा ने साल 2015 में राजनीति में अपने कदम और आगे बढ़ाने का फैसला लिया दरअसल साल 2015 में दिल्ली राज्य में विधान सभा इलेक्शन हुए थे और इस इलेक्शन में नूपुर शर्मा ने भी भारतीय जनता पार्टी की तरफ से अपना पर्चा दाखिल किया था और उन्होंने नई दिल्ली को अपना विधानसभा इलाका चुना था।


Nupur Sharma Biography in Hindi

हालांकि आपको बता दे कि नई दिल्ली की विधानसभा सीट पर जीत हासिल करना इतना आसान भी नहीं था, क्योंकि यह एक हाई प्रोफाइल सीट थी। इस सीट पर तब आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल भी चुनाव लड़ रहे थे, वहीं दूसरी तरफ से कांग्रेस पार्टी ने अपने उम्मीदवार के तौर पर कद्दावर कांग्रेसी नेता किरण वालिया को भी इसी मैदान से चुनाव में उतारा था।


साल 2015 के विधानसभा के इलेक्शन में कांग्रेस और भाजपा जैसी दिग्गज पार्टी को पीछे छोड़ते हुए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में भारी संख्या में जीत दर्ज की, साथ ही अरविंद केजरीवाल ने भी जीत दर्ज की। अरविंद केजरीवाल को साल 2015 के इलेक्शन में टोटल 57213 वोट प्राप्त हुए थे, वहीं भाजपा प्रत्याशी नूपुर शर्मा को 25630 वोट प्राप्त हुए थे।


नुपुर शर्मा की पसंद


नूपुर शर्मा हमेशा से ही खुले विचारों की रही हैं। इन्हें शुरुआत में ही राजनीति में इंटरेस्ट हो गया था। हालांकि राजनीति के अलावा यह अन्य कई चीजों में भी रुचि रखती हैं और इनकी कई पसंदीदा चीजें भी हैं। नूपुर शर्मा को देश के साथ-साथ विदेशों में भी घूमने का काफी ज्यादा शौक है, साथ ही यह एक अच्छी लेखक भी हैं।


इन्हें किताबें पढ़ना भी अच्छा लगता है, साथ ही अपने विचार लोगों के सामने प्रस्तुत करना भी अच्छा लगता है। साल 2009 में गणतंत्र दिवस के मौके पर फेमस मीडिया ग्रुप “द टाइम्स ऑफ इंडिया” की यह गेस्ट संपादिका भी रह चुकी हैं।


नूपुर शर्मा और पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी


वैसे तो नूपुर शर्मा काफी लंबे समय से राजनीति में सक्रिय हैं और इतने समय में इन्होंने अपनी काफी पहचान भी बना ली है परंतु जितनी प्रसिद्धि इन्हें पिछले जून-जुलाई 2022 से मिल रही है, उतनी प्रसिद्धि इन्हें कभी भी नहीं मिली है। नूपुर शर्मा के चर्चे अब भारत के हर राज्य में हो रहे हैं। इसके अलावा 56 इस्लामिक कंट्री में भी नूपुर शर्मा का नाम लिया जा रहा है। यहां तक कि नीदरलैंड के सांसद भी नूपुर शर्मा के बारे में जानने लगे हैं।


दरअसल बात यह है कि एक टीवी डिबेट में एक मुस्लिम स्कॉलर के बार-बार काशी विश्वनाथ मंदिर में मौजूद शिवलिंग को फव्वारा बताए जाने से नूपुर शर्मा की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची, जिसके फलस्वरूप नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद पर कुछ ऐसा बयान दिया जो विवादों में आ गया और इसके बाद से ही सोशल मीडिया के साथ-साथ धरातल पर मुस्लिम समुदाय के द्वारा उस बयान का काफी विरोध किया गया और विरोध होते होते नूपुर शर्मा के द्वारा दिया गया बयान अरब कंट्री में भी जा पहुंचा है, जिसके पश्चात अरब कंट्री के कुछ देश जैसे कि कतर, ओमान और सऊदी अरब के द्वारा इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज करवाई गई।


जिसके फलस्वरूप प्रेशर में आकर के भारतीय जनता पार्टी के द्वारा नूपुर शर्मा को राष्ट्रीय प्रवक्ता से हटा दिया गया। नूपुर शर्मा के साथ ही साथ नवीन जिंदल को भी पार्टी ने बाहर कर दिया। हालांकि नूपुर शर्मा को पार्टी से निकालने के बाद इन्हें पुलिस सुरक्षा दी गई, क्योंकि कई इस्लामिक ग्रुप नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी दे रहे थे।


पार्टी से निकाले जाने के बाद नूपुर शर्मा के तेवर ठंडे नहीं हुए। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि मैंने टीवी डिबेट में वही कहा जो इस्लामिक किताब कुरान में लिखा हुआ है। अगर मेरे साथ अन्याय हुआ तो मैं कोर्ट में सारी बातें सबूत सहित रख दूंगी। उन्होंने कहा कि इस्लामिक लोगों की आस्था आस्था होती है परंतु हिंदुओं की आस्था आस्था नहीं होती है, यह कैसा दोगला व्यवहार है। नूपुर शर्मा को पार्टी से निकाले जाने के बाद विभिन्न हिंदू समुदाय के लोगों ने भाजपा पार्टी से कड़ी प्रतिक्रिया दर्ज करवाई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने नूपुर शर्मा के साथ गलत किया।


नूपुर शर्मा के रोचक तथ्य


- मोहम्मद पैगंबर साहब पर की गई टिप्पणी की वजह से नूपुर शर्मा का विरोध ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्री के ग्रुप ने किया है। वही डच सांसद गीर्ट वाइल्डर्स ने नूपुर शर्मा का समर्थन भी किया है। हालांकि इनका समर्थन करने वाले लोगों की संख्या और भी अधिक है।

- पैगंबर साहब पर की गई टिप्पणी की वजह से कई इस्लामिक ग्रुप के द्वारा नूपुर शर्मा को जान से मारने की धमकी दी गई है। गवर्नमेंट ने इन्हें पुलिस सुरक्षा दी है।

- साल 2009 में 26 जनवरी के दिन विशेष टेलीकास्ट में भाजपा नेत्री नूपुर शर्मा को गेस्ट एंकर के तौर पर टाइम्स ऑफ इंडिया ने बुलाया था।

- साल 2009 में हिंदुस्तान टाइम्स के द्वारा इंडिया की टॉप 10 वूमेन इंस्पिरेशन पर्सनैलिटी की लिस्ट दी गई थी, जिसमें इनका नाम भी था।

- नूपुर शर्मा दिल्ली यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष के पद को भी प्राप्त कर चुकी हैं।


भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा से जुड़े विवाद


एक न्यूज चैनल पर भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा भाजपा की तरफ से ज्ञानवापी मामले का पक्ष रख रही थी और सामने मुस्लिम स्कॉलर भी अपना पक्ष रख रहे थे। इसी टीवी डिबेट के दरमियान मुस्लिम स्कॉलर के द्वारा बार-बार शिवलिंग को फव्वारा बताया जा रहा था, साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वाराणसी की कई सड़कों पर बहुत सारे फव्वारे मौजूद हैं, उनकी भी पूजा हिंदूओ को करनी चाहिए।


इस प्रकार मुस्लिम स्कॉलर की इस बात को सुनकर भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा के द्वारा उनका कड़ा विरोध दर्ज किया गया और आवेश में आकर के उन्होंने यह कहा कि पैगंबर मोहम्मद साहब ने 6 साल की बेटी से विवाह किया था। बस यही बयान विवाद का कारण बन गया और उसके बाद अरब, बहरीन, कतर, तुर्की जैसे देशों में नूपुर शर्मा के इस बयान का काफी विरोध हुआ, जिसके फलस्वरूप भाजपा ने नूपुर शर्मा को पार्टी से 6 साल के लिए बाहर निकाल दिया।


वही उनके साथ ही एक अन्य प्रवक्ता नवीन जिंदल को भी पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया गया। कतर और ओमान जैसे देशों ने भारतीय प्रोडक्ट के बहिष्कार की भी मांग की और ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक ग्रुप ने भी भारत सरकार से इस मुद्दे पर अपनी राय स्पष्ट करने को कहा। इस बयान के बाद कई जगह पर विरोध भी हुए।


नूपुर शर्मा से संबंधित FAQs :-


प्रश्न: नूपुर शर्मा कौन है?

उत्तर- यह भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता है


प्रश्न: नूपुर शर्मा जन्म कब और कहां हुआ?

उत्तर- नूपुर शर्मा का जन्म 23 अप्रैल सन 1985 को नई दिल्ली में हुआ


प्रश्न: नूपुर शर्मा विवादों में क्यों है?

उत्तर- पैगंबर साहब पर दी गई टिप्पणी की वजह से


प्रश्न: नूपुर शर्मा की जाति क्या है?

उत्तर- ब्राह्मण


प्रश्न: नूपुर शर्मा ने पैगंबर साहब पर टिप्पणी क्यों की

उत्तर- काशी विश्वनाथ में मिले हुए शिवलिंग को फव्वारा बताए जाने पर आवेश में आकर के नूपुर शर्मा ने टिप्पणी जी?


प्रश्न: नूपुर शर्मा का अब क्या कहना है?

उत्तर- वह अपने बयान पर कायम है। उनका कहना है कि अगर उन्हें परेशान किया गया तो वह कोर्ट में साबित कर देंगी कि जो उन्होंने कहा है वह कुरान में लिखा है।


अंतिम बात


दोस्तों आशा करते हैं कि आपको ” नुपुर शर्मा (राजनीतिज्ञ) का जीवन परिचय (Nupur Sharma (Politician) Biography in hindi) वाला पोस्ट पसंद आया होगा। अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करके लोगों को भी इसकी जानकारी दें।


अगर आपकी कोई प्रतिक्रियाएं हों तो हमे जरूर बताएंए Contact Us में जाकर आप हमें ईमेल कर सकते है या हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है। जल्दी ही आपसे एक नए पोस्ट के साथ मुलाकात होगी, तब तक के हमारे ब्लॉग पर बने रहने के लिए ”धन्यवाद

No comments