Insurance क्या होता है, इंश्योरेंस कितने प्रकार के होते हैं - पूरी जानकारी हिंदी में

Share:

Insurance Bima kya hota hai in hindi : आज के समय में लगभग हर चीज का इंश्योरेंस (Insurance) हो सकता है। इसलिए आपने कई बार लोगों के मुंह से जीवन बीमा इंश्योरेंस, हैल्थ इंश्योरेंस, मोटरसाइकिल या घर का इंश्योरेंस इत्यादि के बारे में जरूर सुना होगा। इस आर्टिकल में हम इंश्योरेंस (Insurance) के बारे में विस्तार से जानेंगे। 


Insurance Bima kya hota hai in hindi


कई बार इंश्योरेंस (Insurance) का नाम सुनने के बाद लोग एजेंट से गलत व्यवहार करते हैं और उन्हें पॉलिसी बेचने के नाम पर झूठ बोलने की बातें भी कहते हैं। लेकिन अगर आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ेंगे तो आपके मन की सभी शंका दूर हो जाएगी और आपको इंश्योरेंस (Insurance) के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी। जिसके बाद आप भी जरूर इंश्योरेंस करवाएंगे। 


दोस्तों पहले बात आती है Insurance का हिंदी में मीनिंग क्या है मतलब Insurance Meaning in Hindiइंश्योरेंस (Insurance) का मतलब होता है “बीमा”। इंश्योरेंस को हिंदी में बीमा कहते है। यहां आप जानेंगे इंश्योरेंस (Insurance) क्या होता है? इंश्योरेंस कितने प्रकार के होते हैं, इंश्योरेंस के फायदे क्या है, इंश्योरेंस कैसे करवा सकते हैं, पूरी जानकारी मिलेगी हिंदी में


बीमा क्या होता है | Insurance Kya Hai in Hindi


इंश्योरेंस (Insurance) को हिंदी में बीमा कहते हैं। बीमा देखा जाए तो एक फारसी शब्द है जिसका हिंदी में मतलब जिम्मेदारी लेना होता है। बीमा इंश्योरेंस आज के समय में एक ऐसी सुविधा है जो कि एक व्यक्ति को किसी वस्तु या एक व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए भी मुआवजा प्रदान करने की गारंटी देती है।


आज के समय में दुर्घटनाएं होना एक आम बात हो गई तो ऐसी स्थिति में अगर आपके पास कोई मूल्यवान वस्तु है और अगर आप उसका इंश्योरेंस करवा लेते हैं तो आपको भविष्य में इसका अधिक लाभ होगा।


बीमा कितने प्रकार के होते हैं | Types of Insurance in Hindi


इंश्योरेंस (Insurance) कई प्रकार के होते हैं, जिनमें सबसे ज्यादा प्रचलित इंश्योरेंस नीचे दिए गए हैं यह इंश्योरेंस लोगों द्वारा सबसे ज्यादा यह जाने वाली इंश्योरेंस है।


1. Life Insurance


2. Home Insurance


3. Medical / Health Insurance


4. Personal Accident Insurance


5. Vehicle Insurance


6. Crop & Farmer Insurance


7. Travel Insurance


8. Mobile Insurance


चलिए अब इंश्योरेंस (Insurance) के बारे में विस्तार से एक-एक करके जानते हैं...


जीवन बीमा क्या है | Life Insurance Kya Hota Hai in Hindi


लाइफ इंश्योरेंस (Life Insurance) जिसे हम जीवन बीमा भी कहते हैं, एक प्रकार का एग्रीमेंट होता है। यह एग्रीमेंट इंश्योरेंस बेचने वाली कंपनी और इंश्योरेंस पॉलिसी लेने वाले व्यक्ति के बीच में किया जाता है।


इस एग्रीमेंट के तहत इंश्योरेंस कंपनी इंश्योरेंस पॉलिसी लेने वाले व्यक्ति को एक गारंटी देती है कि अगर उस व्यक्ति को कुछ हो जाता है या उसकी मृत्यु हो जाती है तो इंश्योरेंस कंपनी उस व्यक्ति के परिवार को एक निश्चित राशि देगी।


Insurance Bima kya hota hai in hindi


यह राशि इंश्योरेंस पॉलिसी लेते समय तय की जाती है, जिस राशि के लिए इंश्योरेंस पॉलिसी लेने वाले व्यक्ति को उस पॉलिसी को लेने के लिए तय की गई एक निश्चित रकम को एक निश्चित समय तक भरना होता है।


आज के समय हर व्यक्ति को अपने परिवार और बच्चों की फिक्र रहती है इसलिए लोग सबसे ज्यादा लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी लेते हैं ताकि उनके परिवार को उनके जाने के बाद कोई आर्थिक परेशानी ना हो।


Life Insurace Policy भी 4 प्रकार की होती है।


1. Term Insurance


2. Endowment Plan


3. ULIP (Unit Linked Insurance Plan)


4. Money Back Policy


घर का बीमा | Home Insurance Kya Hota Hai in Hindi


एक व्यक्ति अपने जीवन में पैसे जोड़ जोड़ कर एक घर बनाता है लेकिन कई बार किसी दुर्घटना बस उसका घर टूट जाता है या उसके घर का कुछ सामान टूट जाता है तो उस व्यक्ति को बहुत नुकसान होता है।


ऐसे में होम इंश्योरेंस आपके लिए एक बहुत ही फायदेमंद सौदा हो सकता है होम इंश्योरेंस एक ऐसा इंश्योरेंस होता है जिससे हम अपने घर व घर के सामान को सुरक्षित कर सकते हैं।


अगर कभी भविष्य में कोई दुर्घटना होती है और हमारे घर को या उसके सामान को हानि पहुंचती है तो उस स्थिति में बीमा देने वाली होम इंश्योरेंस देने वाली कंपनी उसका नुकसान भरेगी।


स्वास्थ्य बीमा | Medical / Health Insurance Kya Hota Hai in Hindi


एक व्यक्ति के जीवन मे उसका स्वास्थ्य ही सब कुछ है इसलिए लोगो को अपना Medical insurance/Health Insurance करवाना चाहिए। खासकर उन लोगों को जो परिवार के मुखिया है या फिर बाहर जॉब करते है।


Medical Insurance किसी भी बिपता के समय बहुत मदद करता है। मेडिकल इंश्योरेंस देने वाली कंपनी से जब भी कोई व्यक्ति Medical Insurance लेता है। तो मेडिकल इंश्योरेंस बेचने वाली कंपनी और पॉलिसी लेने वाले व्यक्ति के बीच एक agreement होता है, जिसके तहत अगर वह व्यक्ति बीमार पड़ता है या दुर्घटना में घायल होता है तो उसके इलाज का खर्चा बीमा देने वाला कंपनी उठाती है।


वाहन का बीमा | Vehicle Insurance Kya Hota Hai in Hindi


व्हीकल इंश्योरेंस एक ऐसा इंश्योरेंस होता है, जिससे किसी दुर्घटना में आपके वाहन को किसी भी प्रकार का कोई आर्थिक नुकसान होता है तो उसकी भरपाई बीमा कंपनी करती है।


हर कल जब हम नया वाहन लेते हैं तो कंपनियों द्वारा व्हीकल का बीमा साथ के साथ ही करके दिया जाता है। व्हीकल इंश्योरेंस (Vehicle Insurance) दो प्रकार के होते हैं, पहला थर्ड पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस और दूसरा फुल पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस।


- Full Party Vehicle Insurance : फुल पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस एक ऐसा व्हीकल इंश्योरेंस होता है, जिसमें अगर दुर्घटना में दो वाहनों को आर्थिक नुकसान पहुंचे तो बीमा कंपनी उन दोनों वाहनों के आर्थिक नुकसान का खर्चा उठाती है।


- Third Party Vehicle Insurance : थर्ड पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस वह व्हीकल इंश्योरेंस होता है जो कि अक्सर ट्रैफिक पुलिस द्वारा मांगा जाता है क्योंकि यह सबसे ज्यादा अनिवार्य व्हीकल इंश्योरेंस है। इस व्हीकल इंश्योरेंस के तहत जब भी आपके वाहन से किसी दूसरे व्यक्ति के वाहन की टक्कर होती है तो दूसरे व्यक्ति के वाहन में होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करती है।


इसी कारण से वाहन चलाने वाले किसी भी व्यक्ति के पास थर्ड पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस होना जरूरी है लेकिन अगर आपके पास फुल पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस है तो आपको थर्ड पार्टी व्हीकल इंश्योरेंस की जरूरत नहीं है।


कृषि बीमा | Crop & Farmer Insurance Kya Hota Hai in Hindi


क्रॉप और फार्मर इंश्योरेंस उन व्यक्तियों के लिए एक बीमा है] जो व्यक्ति खेती किसानी करते हैं( एक किसान मेहनत से अपनी फसल को लगाता है, लेकिन बरसात या कीड़ों या अन्य किसी दुर्घटना के कारण उनकी फसल को अगर नुकसान पहुंचता है तो इससे उन पर आर्थिक संकट तो आता ही है साथ ही उनकी मेहनत बेकार चली जाती है।


अगर कोई किसान अपनी खेती की फार्मर इंश्योरेंस या क्रॉप इंश्योरेंस करवा लेता है तो ऐसी स्थिति में अगर उसकी फसल को कोई नुकसान पहुंचता है तो उस नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करती है तो यह इंश्योरेंस उन लोगों के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद है जो खेती किसानी का काम करते हैं।


यात्रा बीमा | Travel Insurance Kya Hota Hai in Hindi


ट्रैवल इंश्योरेंस (Travel Insurance) एक ऐसा इंश्योरेंस है, जो कि एक व्यक्ति के लिए ट्रेवल करते समय सबसे ज्यादा काम में आता है, हम कई बार देश-विदेश या फिर एक शहर से दूसरे शहर तक या फिर एक लंबी दूरी का सफर करते हैं।


ऐसे सफर में हमें कई प्रकार की समस्याएं आती है जैसे की दुर्घटना हो जाना हमारा लगेज गुम जाना या फिर हमारी फ्लाइट या रद्द हो जाना या फिर अन्य कई प्रकार की समस्या है।


ऐसी समस्याओं में हमारा कई प्रकार से आर्थिक नुकसान होता है तो अगर आप किसी भी यात्रा में जाने से पहले आपका ट्रैवल इंश्योरेंस (Travel Insurance) करा लेते हैं तो इससे आपको क्या फायदा होगा कि अगर आपकी यात्रा के दौरान दुर्घटना होती है या आपको किसी भी प्रकार का आर्थिक नुकसान होता है तो उसकी भरपाई बीमा कंपनी करती है।


मोबाइल बीमा | Mobile Insurance Kya Hota Hai in Hindi


आज के समय में हर एक व्यक्ति के पास अपना एक मोबाइल फोन है, लेकिन कई बार मोबाइल फोन के गिर जाने या फिर कई प्रकार से नुकसान हो जाने पर लोगों को बहुत समस्या होती है क्योंकि मोबाइल जितना महंगा होता है उसे ठीक कराने में उतना ही ज्यादा पैसा लगता है।


अगर आप इस प्रकार के खर्चों से बचना चाहते हैं तो आप जब मोबाइल खरीदते हैं उस समय आप अपने मोबाइल फोन का भी एक इंश्योरेंस करवा सकते हैं। अगर आप अपने मोबाइल फोन का इंश्योरेंस करवाएंगे तो इसका फायदा आपको यह मिलेगा कि अगर आपके मोबाइल फोन में कोई भी खराबी आती है जिससे आपको कोई आर्थिक नुकसान होता है तो उसकी भरपाई बीमा देने वाली कंपनी करेगी।


बीमा करवाने के क्या फायदे हैं | Insurance Ke Fayde Kya Hai in Hindi


इंश्योरेंस (Insurance) के फायदों के बारे में अगर बात करें तो इंश्योरेंस हमें एक प्रकार की सुरक्षा प्रदान करता है, इससे हमें आर्थिक और मानसिक तौर पर मदद भी मिलती है। 


आर्थिक मदद जब हमें कोई भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है तो उसकी भरपाई इंश्योरेंस देने वाली कंपनी करती है और मानसिक मदद इस प्रकार मिलती है कि हमें किसी भी दुर्घटना या किसी बुरे वक्त आने पर आर्थिक कमजोरी महसूस नही होती क्योंकि हमें पता होता है कि हमने एक इंश्योरेंस करवा रखा है।


अगर हमें भविष्य में कोई परेशानी आती है तो इस परेशानी में होने वाले आर्थिक खर्चों की भरपाई इंश्योरेंस कंपनी कर देगी। अगर आप इंश्योरेंस करवाना चाहते हैं। तो आपके लिए सलाह है कि आप अपनी जरूरत के हिसाब से ही insurance करवाएं।


बीमा क्यों करवाना चाहिए | Insurance Kyu Karvana chahiye in Hindi


इंश्योरेंस (Insurance) हम क्यों करवाएं? जब भी हम इंश्योरेंस करवाते हैं या इंश्योरेंस करवाने जा रहे होते हैं तब हमारे मन में यह सवाल जरूर आता है कि हमें इंश्योरेंस क्यों करवाना चाहिए या फिर हमें इंश्योरेंस की जरूरत क्यों है क्योंकि हम जिस बीमा देने वाली कंपनी से इंश्योरेंस करवा रहे हैं वह कंपनी हमसे इंश्योरेंस पॉलिसी के बदले में पैसे लेती है और यह पैसा हमें या तो एक बार में या फिर हर महीने किश्तों में देना होता है।


इसलिए हर व्यक्ति के मन में यह सवाल जरूर आता है कि वह इंश्योरेंस क्यों करवाएं। इंश्योरेंस के क्या फायदे हैं यह तो हम ऊपर जान ही चुके हैं तो अब अगर हम आसान शब्दों में समझने की कोशिश करें तो इंश्योरेंस (Insurance) करवाने के बाद आप बेफिक्र हो जाते हैं। एक तो आपका भविष्य सेफ हो जाता है और साथ में आपके परिवार को भी आर्थिक नुकसानसे नही जूझना पड़ेगा। 


इसके साथ ही एक बात जो आपको जाननी चाहिए। आपके घर या आपके पास बहुत सारे इंश्योरेंस (Insurance) कंपनियों के एजेंट आते होंगे, जो आपको बहुत सारे प्लान बताते हैं। लेकिन आपको कभी भी जल्दबाजी में आकर बीमा नही करवाना चाहिए। आपको अपनी जरूरत के अनुसार ही पॉलिसी लेनी चाहिए। इससे आपके बजट पर भी कोई फर्क नही पड़ेगा और आपका व आपके परिवार का भविष्य भी सुरक्षित हो जाएगा। 


अंतिम बात


इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि इंश्योरेंस क्या है, इंश्योरेंस कितने प्रकार के होते हैं, इंश्योरेंस के फायदे क्या होते हैं, इंश्योरेंस क्यों लेना चाहिए और इंश्योरेंस करवाने से क्या होता है, ये पूरी जानकारी आपको विस्तार से बताई गई। जिसके बाद आपके मन में चल रही कई शंकाएं दूर हो गई होगी। 


अगर आपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ लिया है तो आपको भी अपने और अपने परिवार का इंश्योरेंस (Insurance) जरूर करवाना चाहिए। इसके साथ ही आप अपने वाहन, घर, मोबाइल आदि का भी बीमा करवा सकते हैं। इससे अगर कोई नुकसान होता है तो उसके लिए बीमा कंपनी खुद भुगतान करेगी। 


उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी। आपको हमारी जानकारी कैसे लगी बताने के लिए कॉमेंट करें। अगर आपके मन में कोई सवाल या शंका है तो आप हमें कॉमेंट में पूछ सकते हैं। अगर ये जानकारी पसंद आए तो आप इसे Facebook, Whatsapp, Twitter, Instagram पर शेयर कर सकते हैं।

No comments