रेलवे ट्रेन ड्राइवर कैसे बने | Indian Railway Driver Kaise Bane in Hindi - Techno Preet

Share:

Train Driver Kaise Bane in Hindi : क्या आप भी ट्रेन ड्राइवर बनने के बारे में सोच रहे हैं। लेकिन आपको पता नहीं हैं कि भारतीय रेलवे में ट्रेन ड्राइवर कैसे बने (How to become indian railway driver in hindi) इसलिए आज के इस आर्टिकल में हम आपको रेलवे ड्राइवर बनने के बारे में पूरी जानकारी देंगे, जिसे पढ़कर आप 2022 में रेलवे ड्राइवर बन सकते हैं। 


दोस्तों एक Railway Driver की भूमिका बिलकुल एयरलाइन में पायलट की भूमिका के बराबर ही होती है। औसतन, एक सामान्य ट्रेन एक समय में 1000 से अधिक यात्रियों या विभिन्न सामानों को कार्गो के रूप में ले जाती है। यात्रियों की जिम्मेदारी एक railway driver या लोको पायलट के सक्षम कंधे पर ही होती है, जो एक अटूट कर्तव्य करता है, और लोगों को दैनिक आधार पर स्थानों से जोड़ता है। इस पोस्ट को पढ़कर आप जानेंगे कि रेलवे में लोको पायलट कैसे बनें (Railway Train Driver Kaise Bane in Hindi)


इंडियन रेलवे द्वारा समय-समय पर लोको पायलट (Train Driver) की नौकरियां निकाली जाती है। जिससे आप भी अपने सपने को साकार कर सकते हैं और भारतीय रेलवे में ड्राइवर बन सकते हैं। इस पोस्ट में आप पढ़ेंगे, ट्रेन ड्राइवर कैसे बनें? रेलवे लोको पायलट बनने के लिए योग्यता, शैक्षिक योग्यता और अन्य जानकारी....


इंडियन रेलवे में ट्रेन ड्राइवर कैसे बनें?


भारत में एक railway driver के करियर ग्राफ में कम दूरी की यात्री ट्रेनें चलाना शामिल है, इसके बाद उनकी posting ‘शंटिंग’ के लिए की जाती है। शंटिंग ट्रेनों को प्लेटफॉर्म से उनके parking स्थल या yard तक ले जाने की प्रक्रिया को कहा जाता है, जहां उन्हें तुरंत धोया जाता है और उन्हें यार्ड से प्लेटफॉर्म पर वापस ले जाया जाता है। इस stage के बाद ड्राइवरों को मालगाड़ियों को चलाना पड़ता है, जो छोटी और लंबी दूरी तक माल ढुलाई करती हैं।


Train Driver Kaise Bane in Hindi

Railway driver या लोको-पायलट रेलवे के सबसे महत्वपूर्ण व्यक्तियों में से एक हैं, जो रोजाना लाखों यात्रियों और कई मिलियन टन से अधिक माल ढुलाई के विशाल कार्य को अंजाम देते है। रेलवे द्वारा समय-समय पर ट्रेन ड्राइवर या लोको पायलट की जॉब निकाली जाती है। अगर आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ेंगे तो आपको रेलवे में ड्राइवर कैसे बन सकते हैं? के बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी।


ट्रेन चालक बनने के लिए योग्यता? (Indian railway driver eligibility)


ट्रेन ड्राइवर स्थानीय और राष्ट्रीय रेल कंपनियों के लिए काम करते हैं | ट्रेन ड्राइवर के रूप में करियर बनाने के लिए आपको निम्नलिखित मानदंडों को पूरा करना होगा...


ट्रेन ड्राईवर बनने की उम्र (Age for becoming indian railway driver)


railway driver बनने के इच्छुक लोगों की आयु 18 से 30 वर्ष के बीच होनी चाहिए। हालांकि, एससी/एसटी और ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों और महिलाओं को सरकारी मानदंडों के अनुसार आयु में छूट दी जाती है।


ट्रेन ड्राईवर बनने की शैक्षिक योग्यता (Academic qualification for becoming indian railway driver)


1. सहायक लोको पायलट (एएलपी) या ट्रेन ड्राइवर बनने के लिए, उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 10वीं कक्षा या समकक्ष योग्यता में उत्तीर्ण होना चाहिए।


Train Driver Kaise Bane in Hindi

2. इसके अलावा उन्हें एआईसीटीई (AICTE) द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से आईटीआई (ITI) पास या मैकेनिकल / इलेक्ट्रिकल / इलेक्ट्रॉनिक्स / ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा पूरा किया होना चाहिए।


भारतीय रेलवे में ट्रेन चालक बनने की चयन प्रक्रिया? (Indian railway driver selection procedure)


रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB), आरआरबी एएलपी (सहायक लोको पायलट/railway driver) की चयन प्रक्रिया आयोजित करता है। चयन प्रक्रिया चार चरणों में आयोजित की जाती है- पहला चरण सीबीटी, दूसरा चरण सीबीटी, कंप्यूटर आधारित योग्यता परीक्षा और दस्तावेज सत्यापन। चलिए अब विस्तार से जानते है इसके बारे में....


- पहला चरण : पहला चरण केवल दूसरे चरण के लिए उम्मीदवारों को shortlist करने के लिए ही आयोजित किया जाता है। इस चरण में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त अंकों को अंतिम मेरिट सूची के लिए नहीं माना जाता है।


- दूसरा चरण : दूसरे चरण के भाग A में प्राप्त अंकों को केवल भर्ती प्रक्रिया के आगे के चरणों के लिए उम्मीदवारों को shortlist करने के लिए माना जाएगा, बशर्ते उम्मीदवार भाग B में उत्तीर्ण हों। आरआरबी एएलपी दूसरे चरण का भाग B qualifying nature का होता है।


- कंप्यूटर आधारित aptitude टेस्ट : दूसरे चरण के भाग A में उम्मीदवारों के प्रदर्शन के आधार पर उनको इस चरण के लिए shortlist किया जाता है। ALP के लिए योग्यता सूची aptitude टेस्ट में शामिल होने प्वाले उम्मीदवारों में से तैयार की जाएगी। परीक्षा में दूसरे चरण के भाग A में प्राप्त अंकों को 70% और CBAT में प्राप्त अंकों को 30% का वेटेज दिया जाता है।


- दस्तावेज़ सत्यापन : अंत में सभी एएलपी पदों के लिए, merit  लिस्ट के आधार पर document verification के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाता है, और उन सभी लोगों के डॉक्यूमेंट वेरीफाई किए जाते है।


भारतीय रेलवे में ट्रेन चालक का वेतन (Indian railway driver salary)


एक नए नियुक्त railway driver का वेतनमान लगभग 25,000 रुपये से लेकर 30,000 रुपये प्रति माह होता है। हालांकि, ये वेतनमान समय-समय पर संशोधित होते रहते हैं। उन्हें अंशदायी भविष्य निधि, gratuity, चिकित्सा सुविधाएं और मुफ्त/रियायती रेलवे मार्ग आदि सहित पारिश्रमिक और प्रोत्साहन भी मिलते हैं।


रेलवे ड्राइवर को आवास सुविधाओं, चिकित्सा व्यय और बाहरी भत्ते के अलावा भी कई प्रकार के लाभ और भत्ते भी प्रदान किए जाते हैं। साथ ही उनके तत्काल परिवार के सदस्यों और आश्रितों के लिए मुफ्त/रियायती रेलवे पास भी प्रदान किए जाते हैं। ऊपर दिए गए वेतन में भारतीय रेलवे द्वारा प्रदान किए जाने वाले लाभ और भत्ते शामिल हैं। ऐसे कई भत्ते हैं जो एक RRB सहायक लोको पायलट को वेतन के साथ मिलते हैं, जो की है-


- मकान किराया भत्ता

- महंगाई भत्ता

- परिवहन भत्ता

- रनिंग अलाउंस (किलोमीटर की यात्रा के आधार पर)


FAQ


प्रश्न: ट्रेन ड्राइवर कैसे बने?

उत्तर- यदि आप भी भारतीय रेलवे में एक इंजन ड्राइवर बनना चाहते हैं, तो आपको आरआरबी द्वारा आयोजित संबंधित परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करनी होगी। परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने के बाद, आपको एक प्रशिक्षण अवधि से गुजरना होगा। एक बार जब आप सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा कर लेंगे, तो आपको एक ट्रेन चालक/सहायक लोको पायलट के रूप में नियुक्त किया जाएगा।


प्रश्न: ट्रेन के ड्राइवर किस शिफ्ट में काम करते हैं?

उत्तर- उद्योग मानक कार्य सप्ताह लगभग 35 घंटे है, जो चार या पांच शिफ्ट में फैला हुआ है, लेकिन इन्हें शाम, देर रात और सप्ताहांत सहित किसी भी समय निर्धारित किया जा सकता है।


प्रश्न: क्या लोको पायलट बनने के लिए ITI अनिवार्य है?

उत्तर- हां, किसी भी व्यक्ति के परीक्षा में शामिल होने या प्रवेश परीक्षा के लिए पात्र होने के लिए, आईटीआई (ITI) पूरा करना आवश्यक है।


प्रश्न: भारत में ट्रेन ड्राइवरों/लोको पायलटों की भर्ती के लिए प्रवेश परीक्षा कौन आयोजित करवाता है?

उत्तर- रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) भारत में ट्रेन ड्राइवरों / लोको पायलटों की भर्ती के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाता है।


प्रश्न: क्या भारतीय रेलवे लोको पायलट में महिलाएं भी शामिल हो सकती हैं?

उत्तर- कुछ महिलाओं को लोको पायलट के रूप में भी भर्ती किया गया है। लेकिन उन्हें अपने करियर की प्रगति में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है, क्योंकि नौकरी में कठिन, कम आबादी वाले इलाकों में माल गाड़ियों को चलाना शामिल है, जो असुरक्षित हो सकता है। इसलिए, महिला लोको पायलटों को ज्यादातर कम दूरी पर मालगाड़ियों और ट्रेनों को चलाने का काम सौंपा जाता है।


प्रश्न: ट्रेन ड्राइवर को वेतन कितनी मिलती है?

उत्तर- नए ट्रेन ड्राइवर को 25000 से 30000 रूपए तक वेतन मिलता है। इसके अलावा उन्हें कई तरह के मानभत्ते भी मिलते हैं। समय-समय पर उनकी वेतन बढ़ती रहती है। 


ये भी पढ़े-

- बिजली विभाग में जेई कैसे बने

- इंडियन आर्मी की तैयारी कैसे करें

- सरकारी ठेकेदार कैसे बने

- आईएएस और पीसीएस अफसर में क्या अंतर है


अंतिम बात


इस आर्टिकल को पढ़कर आप समझ गए होंगे कि रेलवे ट्रेन ड्राइवर कैसे बने (Railway Loko Pilot kaise bane in Hindi), आशा करते हैं कि आपको  ये जानकारी पढ़कर कुछ नया सीखने को मिलेगा। जिसे पढ़कर आप भी अपने सपने को पूरा सकते हैं।


हमारे ब्लॉग पर Career बनाने के लिए ऐसे ही नए-नए आर्टिकल लिखे जाते हैं और आप अन्य पोस्ट भी पढ़ सकते हैं। जिसे पढ़कर आप कुछ नया सीख सकते हैं। हमारा लक्ष्य कुछ नया सिखाने का रहता है। 


अगर आपको ये जानकारी पसंद आए तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें और अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए कॉमेंट करें। धन्यवाद

No comments